India GK

भारत का सामान्य परिचय

भारत का प्राचीन नाम उत्तर भारत में बसने वाले आर्यो के नाम पर अर्यवृत किया गया। इन आर्यो के शक्तिशाली राजा भरत के नाम पर यह भारत कहलाया। वैदक आर्यो का निवास स्थान सिंधु घाटी में था। जिसे ईरानियों ने हिन्दु नदी तथा इस देश को हिन्दुस्थान कहा। यूनानीयों ने सिन्धु को इण्डस तथा इस देश को इंडिया कहा।

सभी नोट्स पर जाये —>

India GK

भारत का भूगोल 

भारत के उत्तर में हिमालय पर्वत दक्षिण पश्चिम में हिन्दूकुश व सुलेमान श्रेणीयों , उत्तर – पश्चिम में पूर्वाचल पहाड़ीयों तथा दक्षिण विशाल हिन्दमहासागर से सीमांकित एक वृहत भौगोलिक इकाई है जिसे भारतीय उपमहाद्वीप कहा जाता है । इसमें पाकिस्तान , नेपाल , भूटान , बंग्लादेश और भारत आते हैं ।

सभी नोट्स पर जाये —>

Constitution of India – भारतीय संविधान

जिन कानून और नियमों को ब्रिटिश शासन के दौरान भारत में शासन व्यवस्था संचालित करने के लिए बनाया गया जो आगे चलकर भारतीय परिपेक्ष संविधान निर्माण के काम आए। जो कि संवैधानिक विकास कहलाया।

31 दिसम्बर 1600 में अंग्रेजी ईस्ट इण्डिया कम्पनी भारत में व्यापार करने के लिए आई। ईस्ट इण्डिया कम्पनी धीरे – धीरे यहां के शासक बन बैठे।

सभी नोट्स पर जाये —>

विश्व भूगोल  – Geography in Hindi

भूगोल-सामान्य जानकारी –

भूगोल के नामकरण एवं इस विषय को प्राथमिक स्तर पर व्यवस्थित स्वरूप प्रदान करने का श्रय यूनान के निवासियों को जाता है । हेकिटयस ने अपनी पुस्तक जस पीरियोडस अर्थात ‘ पृथ्वी का वर्णन ‘ में सर्वप्रथम भौगोलिक का तत्वों का क्रमबद्ध समावेश किया । इरेटोस्थनीज ने भूगोल के लिए सर्वप्रथम ज्योफिका शब्द का प्रयोग किया ।

सभी नोट्स पर जाये —>

Rajasthan GK

राजस्थान का सामान्य परिचय – जिलेवार

राजस्थान का कुल क्षेत्रफल 3,42,239 वर्गकि.मी. है। जो कि देश का 10.41प्रतिशत है और क्षेत्रफल की दृष्टि से राजस्थान का देश में प्रथम स्थानहै। 1 नवम्बर 2000 को मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ का गठन हुआ और उसी दिन से राजस्थान देश का प्रथम राज्य बना। 2011 में राजस्थान की कुल जनसंख्या 6,86,21,012 थी जो की देश की जनसंख्या का 5.67 प्रतिशत है।

सभी नोट्स पर जाये —>

हिन्दी

भाषा

भाषा वह साधन है जिसके माध्यम से हम अपने विचारों को व्यक्त करते हैं। भाषा शब्द संस्कृत के भाष् से व्युत्पन्न है। भाष् धातु से अर्थ ध्वनित होता है-प्रकट करना।

व्याकरण- जो विद्या भाषा का विश्लेषण करती है व्याकरण कहलाती है।

हिन्दी में 44 वर्ण है जिन्हें दो भागों में बांटा जा सकता है- स्वर और व्यंजन

सभी नोट्स पर जाये —>

English Grammar with Practice Sets

English Grammar Basics with Practice Sets 

Modals – ( 1 ) Can ( 2 ) Could ( 1 ) May Might ( 5 ) Shall (6) Should  ( 7) Will ( 8 ) Would ( 9 ) Must ( 10 ) Ought to (11) Used to ( 12 ) Need ( 13 ) Dare

सभी नोट्स पर जाये —>

गणित

संख्याएं

प्राकृत संख्याएं – 

जिन संख्याओं का प्रयोग हम प्रकृति या दैनिक जिवन में गिनती के लिए करते हैं। जैसे 1,2,3,4,….. आदि संख्याएं प्राकृत संख्याएं कहलाती हैं। 0 प्राकृत संख्या नहीं है। प्राकृत संख्याओं के समुच्य को “N” से प्रदर्शित किया जाता है।

जैसे N= [1,2,3,…]

सभी नोट्स पर जाये —>

Reasoning

श्रृंखला(Series)

किसी समुह में स्थित संख्याओं या अक्षरों के सुव्यवस्थित क्रम को श्रृंखला कहा जाता है। जिसमें प्रत्येक अगली संख्या या अक्षर का क्रम एक निश्चित से हो रहे परिवर्तनों पर आधारित होता है। यदि यह क्रम इसी प्रकार से चलता रहे तो पूछे गये स्थान पर आने वाली संख्या या अक्षर को ज्ञात करना होता है।

जैसे – 2,4,6,8…।, A,E,I,O,..।

सभी नोट्स पर जाये —>

(Computer Science ) कंप्यूटर विज्ञान

कम्प्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक यंत्र है जो डेटा लेता है और उस पर प्रक्रिया (processing) करके एक अर्थ पूर्ण परिणाम देता है।

कंप्यूटर को हिंदी भाषा में अभिकल यंत्र (programmable machine) कहते है, इसके अन्य नाम संगणक व परिकलक हैं।

कम्प्यूटर दिए गये गणितीय (numeric) तथा तार्किक संक्रियाओं ( logical data ) को क्रम से स्वचालित रूप से करने में पुर्णतः सक्षम है।

सभी नोट्स पर जाये —>

विभिन्न कक्षाओं से संबंधित नोट्स 

  1. ICT कक्षा 6वीं
  2. ICT कक्षा 7वीं
  3. ICT कक्षा 8वीं
  4. कक्षा 8वीं गणित
  5. कक्षा 8वीं विज्ञान
  6. कक्षा 9वीं गणित
  7. कक्षा 9वीं विज्ञान
  8. कक्षा 10वीं गणित
  9. कक्षा 10वीं विज्ञान